भक्तिन Class 12 Hindi Chapter 1 Important Question Answer – आरोह भाग 2

NCERT Class 12th Hindi आरोह भाग 2 Chapter 1 भक्तिन  Question Answer Solution for remember question answer and score higher in board exam results.  NCERT Solution for Class 12 Hindi Chapter 1 Question Answer of Aroh Bhag 2 Bhaktin NCERT Solution for CBSE, HBSE, RBSE and Up Board and all other chapters of class 12 hindi Gadhy Bhaag solutions are available.

Also Read:- Class 12 Hindi आरोह भाग 2 NCERT Solution

NCERT Solution for Class 12 Hindi Chapter 1 Important Question Answer of Aroh Bhag 2 Bhaktin / भक्तिन NCERT Solution for CBSE, HBSE, RBSE and Up Board.

Bhaktin Class 12 Hindi Chapter 1 Important Question Answer

पाठ 1 भक्तिन महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर ( गद्य भाग )


प्रश्न 1. भक्तिन अपना वास्तविक नाम लोगों से क्यों छिपाती थी? भक्तिन को यह नाम किसने और क्यों दिया होगा ?

उत्तर – भक्तिन का वास्तविक नाम लक्ष्मी था। वह अपना वास्तविक नाम लोगों से इसलिए छुपाती थी क्योंकि उसका जीवन उसके नाम के बिल्कुल विपरीत था। लक्ष्मी धन, वैभव और समृद्धि का प्रतीक होती हैं जबकि उसके जीवन में ऐसा कुछ नहीं था। भक्तिन का जीवन कष्टता एवं धन की कमी से भरा हुआ था। लक्ष्मी को भक्तिन नाम लेखिका ने उसके गले में पड़ी कंठी माला और उसके नौ सेवक धर्म से प्रभावित होकर दिया था।


प्रश्न 2. भक्तिन द्वारा शास्त्र के प्रश्न को सुविधा से सुलझा लेने का क्या उदाहरण लेखिका ने दिया है ?

उत्तर – भक्तिन द्वारा शास्त्र के प्रश्न को अपनी सुविधा के अनुसार सुलझा लेने का उदाहरण देते हुए लेखिका कहती है कि मुझे स्त्रियों का सिर घुटाना अच्छा नहीं लगता, अतः मैंने भक्तिन को रोका। उसने अकुंठित भाव से उत्तर दिया कि शास्त्र में लिखा है। कुतूहलवश मैं पूछ ही बैठी–‘क्या लिखा है?” तुरंत उत्तर मिला- ‘तीरथ गए मुँडाए सिद्ध।’ कौन-से शास्त्र का यह रहस्यमय सूत्र है, यह जान लेना मेरे लिए संभव ही नहीं था। अतः मैं हारकर मौन ही रही और भक्तिन का चूड़ाकर्म हर बृहस्पतिवार को, एक दरिद्र नापित के गंगाजल से धुले उस्तरे द्वारा यथाविधि निष्पन्न होता रहा।


प्रश्न 3. भक्तिन के आ जाने से महादेवी अधिक देहाती कैसे हो गई ?

उत्तर – भक्तिन एक अनपढ़ ग्रामीण महिला थी। वह देहाती होने के साथ-साथ एक समझदार महिला भी थी। उसका स्वभाव ही ऐसा बन चुका था कि वह दूसरों को अपने मन के अनुसार बना लेना चाहती है पर अपने संबंध में किसी प्रकार के परिवर्तन की कल्पना तक उसके लिए संभव नहीं। इसीलिए भक्तिन के आ जाने से महादेवी अधिक देहाती हो गई।


Comment Your Question That was asked in Your Exam for help other friends. so We will add More Question solution here.

Leave a Comment

error: cclchapter.com