एक कहानी यह भी Class 10 Hindi Important Question Answer – क्षितिज भाग 2 NCERT Solution

NCERT Solution of Class 10 Hindi क्षितिज भाग 2  एक कहानी यह भी Important  Question Answer for HBSE. Here We Provides Class 1 to 12 all Subjects NCERT Solution with Notes, Question Answer, HBSE Important Questions, MCQ and old Question Papers for Students.

Also Read :- Class 10 Hindi क्षितिज भाग 2 NCERT Solution

  1. Also Read – Class 10 Hindi क्षितिज भाग 2 NCERT Solution in Videos
  2. Also Read – Class 10 Hindi कृतिका भाग 2 NCERT Solution in Videos

NCERT Solution of Class 10th Hindi Kshitij bhag 2/  क्षितिज भाग 2 Chapter 14 Ek Kahani yeh Bhe Important Question And Answer ( महत्वपूर्ण प्रश्न ) Solution.

एक कहानी यह भी Class 10 Hindi महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर


प्रश्न 1. लेखिका के व्यक्तित्व पर किन-किन व्यक्तियों का और किस रूप में प्रभाव पड़ा ?

उत्तर – लेखिका के व्यक्तित्व पर उनके पिता जी और अध्यापक शीला अग्रवाल का विशेष प्रभाव पड़ा है। उनके पिताजी ने उन्हें घर में होने वाली राजनीतिक सभाओं में भाग लेने के लिए प्रेरित किया। वह उनके साथ बैठकर सबके विचार सुनती है। उनके पिता जी साहित्य प्रेमी थे इसलिए वह उनके पास रखी किताबें पढ़ती रहती थी। उनके पिता जी कई प्रकार के विचारों के स्वामी थे, उन सबका विशेष रूप से लेखिका पर प्रभाव पड़ा। लेखिका जब कॉलेज गई वहाँ पर हिंदी की अध्यापिका शीला अग्रवाल ने उसका साहित्य से वास्तविक परिचय करवाया । साथ में घर की राजनीतिक सभाओं से निकलकर देश की असली स्थिति से उसका परिचय करवाया। अध्यापिका शीला अग्रवाल के विचारों ने उसमें नया जोश और उत्साह भर दिया था जिसने लेखिका को अपने विचारों को दूसरों के सामने व्यक्त करने के लिए प्रेरित किया।


प्रश्न 2. इस आत्मकथ्य में लेखिका के पिता ने रसोई को ‘भटियार खाना’ कहकर क्यों संबोधित किया है?

उत्तर – लेखिका के पिता रसोई को ‘भटियार खाना’ कहते थे। उनके अनुसार रसोई वह भट्टी है, जिसमें औरतों की क्षमता और प्रतिभा झोंक दी जाती है।


प्रश्न 3. अजमेर से पहले लेखिका का परिवार कहाँ रहता था ? उनकी आर्थिक स्थिति कैसी थी ?

उत्तर – अजमेर से पहले लेखिका का परिवार इंदौर में रहता था। इंदौर में रहते हुए उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी थी। नगर में लेखिका के पिता जी की बड़ी प्रतिष्ठा और सम्मान था। वे कांग्रेस के साथ-साथ समाज-सुधार के कामों से भी जुड़े हुए थे। आर्थिक स्थिति अच्छी होने के कारण वे बहुत दरिया-दिल थे। अपनी दरिया-दिली के कारण वे लोगों में प्रसिद्ध थे।


प्रश्न 4. घर की गिरती अर्थव्यवस्था ने पिता जी के व्यक्तित्व पर क्या प्रभाव डाला ?

उत्तर – इंदौर में पिता जी को एक बहुत बड़ा आर्थिक झटका लगा जिसके कारण वे इंदौर से अजमेर आ गए। वहाँ उन्होंने अपने हिम्मत और हौंसले से अंग्रेजी-हिंदी शब्दकोश तैयार किया। यह अपनी तरह का पहला शब्दकोश था। इस शब्दकोश ने पिता को यश बहुत दिया, परंतु धन नहीं दिया। इससे उनकी आर्थिक स्थिति और खराब होती गई। खराब होती आर्थिक स्थिति ने उनके व्यक्तित्व के सकारात्मक पहलुओं को निचोड़ना शुरू कर दिया। नवाबी आदतें, अधूरी महत्त्वाकांक्षाएँ और सदा से समाज में ऊँचा रहने के बाद आर्थिक तंगी ने उन्हें हाशिए पर लाकर खड़ा कर दिया था, जिसके कारण उनमें अहं और क्रोध बहुत बढ़ गया था।


प्रश्न 5. लेखिका के पिता जी लेखिका को अपने साथ क्यों रखना चाहते थे ?

उत्तर – सुशीला की शादी और दोनों भाइयों के आगे पढ़ने के लिए बाहर जाने के बाद लेखिका घर में अकेली रह गई थी। उसके अकेले रह जाने पर उनके पिता जी का ध्यान उन पर गया। वे उसे घर के कामों में नहीं लगाना चाहते थे। वे औरतों को अपनी क्षमता और प्रतिभा को नष्ट करने के विरुद्ध थे। इसलिए लेखिका के पिता जी उसे घर में होने वाली राजनीतिक सभाओं में अपने साथ रखते थे जिससे उसे देश की स्थिति का वास्तविक ज्ञान हो। उस समय लेखिका की उम्र कुछ समझने लायक नहीं थी, फिर भी उसे शहीदों की कुर्बानियों और विचारों को सुनना अच्छा लगता था।


Leave a Comment

error: cclchapter.com