फसल उत्पादन एवं प्रबंध Class 8 Science Chapter 1 Important Question Answer in Hindi NCERT Solution

NCERT Class 8 Science फसल उत्पादन एवं प्रबंध Chapter 1 Important Question Answer for Preparation of Exams. Here we Provide Class 8 Science Question Answer, Important Questions, MCQ for Various State Boards Students like CBSE, Haryana board, up board, mp board and other state board students.

Also Read : – Class 8 विज्ञान NCERT Solution

NCERT Class 8 Science / विज्ञान Chapter 1 फसल उत्पादन एवं प्रबंध / phasal utpaadan evan prabandh Important in Hindi Question Answer ( प्रश्न उत्तर ) Solution.

फसल उत्पादन एवं प्रबंध Class 8 Science Chapter 1 Important Question Answer in Hindi


प्रश्न 1 स्पष्ट कीजिए कि उर्वरक खाद से किस प्रकार भिन्न है?

उत्तर—

उर्वरकखाद
  • यह एक अकार्बनिक लवण है।
  • इसका उत्पादन फैक्ट्रियों में होता है।
  • इससे मिट्टी को ह्यूमस प्राप्त नहीं होती है।
  • इसमें पादप पोषक प्रचुरता में होते हैं।
  • यह प्राकृतिक पदार्थ है जो गोबर, मानव अपशिष्ट, पौधों के अवशेष आदि से बनाया जाता है।
  • यह खेतों में बनाई जाती है।
  • इससे मिट्टी को प्रचुर मात्रा में ह्यूमस प्राप्त होती है।
  • इसमें पादप पोषक अपेक्षाकृत कम मात्रा में होते हैं।

प्रश्न 2. सिंचाई किसे कहते हैं? जल संरक्षित करने वाली सिंचाई की दो विधियों का वर्णन कीजिए।

उत्तर- जीवित रहने के लिए पौधों को जल की आवश्यकता होती है। पौधों में लगभग 90% जल होता है। फसल की स्वस्थ वृद्धि के लिए मिट्टी की नमी को बनाए रखने की आवश्यकता होती है जिसके लिए विभिन्न अंतराल पर खेत में जल देना सिंचाई कहलाता है। जल संरक्षित करने वाली सिंचाई की दो विधियाँ निम्नलिखित है।

(i) छिड़काव तंत्र- इस विधि का उपयोग असमतल भूमि, जहाँ पर जल कम मात्रा में उपलब्ध हो, के लिए किया जाता है। इसमें नलों के ऊपर घूमने वाले नोजल लगे होते हैं। जब पम्प से जल मुख्य पाइप में भेजा जाता है। तो वह घूमते हुए नोजल से बाहर निकल वर्षा की भाँति छिड़काव करता है। यह विधि रेतीली मिट्टी के लिए अत्यंत उपयुक्त है।
(ii) ड्रिप तंत्र- इसमें जल बूंद-बूंद करके पौधों पर गिरता है और व्यर्थ नहीं होता। यह कम पानी वाले क्षेत्रों के लिए एक वरदान है। यह विधि फलदार पौधों, बगीचों आदि को पानी देने का सर्वोत्तम तरीका है।


प्रश्न 3 यदि गेहूँ को खरीफ़ ऋतु में उगाया जाए तो क्या होगा? चर्चा कीजिए।

उत्तर- गेहूं एक रबी फसल है, इसे शीत ऋतु में उगाया जाता है। खरीफ़ ऋतु जून से सितंबर तक होती है। इस समय वर्षा काफी अधिक मात्रा में होती है। इसलिए इसे वर्षा ऋतु भी कहते हैं। यदि गेहूँ को इस समय उगाया जाए तो गेहूँ के पौधे अधिक मात्रा में पानी मिलने की वजह से खराब हो जाएँगे और फसल बर्बाद हो जाएगी।


प्रश्न 4 खरपतवार क्या हैं? हम उनका नियंत्रण कैसे कर सकते है?

उत्तर- खेत में फसल के साथ कई अवांछित पौधे उग जाते हैं, इन पौधों को खरपतवार कहते हैं। इनको हटाना आवश्यक होता है अन्यथा ये फसल की वृद्धि पर प्रभाव डालते हैं और पशुओं एवं मनुष्यों के लिए विषैले हो सकते हैं। इनको नियंत्रण करने के कई तरीके हैं

(i) फसल उगाने से पहले खेत जोतकर-इससे खरपतवार पौधे सूख  कर मर जाते हैं।
(ii) पुष्पण एवं बीज बनने से पहले हाथ से, खुरपी या फैरों की सहायता से पौधों को उखाड़कर।
(iii) खरपतवारनाशी रसायनों का उपयोग करके-इससे खरपतवार पौधे मर जाते हैं।


Leave a Comment

error: cclchapter.com