संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक Class 8 Science Chapter 3 Question Answer Hindi Medium PDF

Class 8 Science/ विज्ञान Chapter 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिकQuestion Answer / प्रश्न उत्तर in Hindi for CBSE, HBSE and other State Board Hindi Medium Students. These Questions allowed Where NCERT Book Class 8 विज्ञान is Followed.

Class 8 विज्ञान Chapter 3 Question Answer in Hindi

प्रश्न 1 कुछ रेशे संश्लेषित क्यों कहलाते हैं?

उत्तर- ऐसे रेशे जो मनुष्यों द्वारा बनाए जाते हैं, अर्थात् जो पौधों और जंतुओं से प्राप्त नहीं होते, संश्लेषित या मानव निर्मित रेशे कहलाते हैं। ये तीन प्रकार के होते हैं

(i) रेयॉन, (ii) नायलॉन, (iii) पॉलिएस्टर और ऐक्रिलिक

प्रश्न 2  सही उत्तर को चिह्नित (✓) कीजिए- रेयॉन एक संश्लेषित रेशा नहीं है, क्योंकि :

(क) इसका रूप रेशम समान होता है।

(ख) इसे काष्ठ लुगदी से प्राप्त किया जाता है।

(ग) इसके रेशों को प्राकृतिक रेशों के समान बुना जा सकता है।

प्रश्न 3 उचित शब्दों द्वारा रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए-

(क) संश्लेषित रेशे_________अथवा_________रेशे भी कहलाते हैं।

(ख) संश्लेषित रेशे कच्चे माल से संश्लेषित किये जाते हैं, जो _________कहलाता है।

(ग) संश्लेचित रेशे की भांति प्लास्टिक भी एक_________है।

उत्तर-(क) मानव निर्मित, कृत्रिम, (ख) संश्लेषण, (ग) बहुलक।

प्रश्न 4नायलॉन रेशों से निर्मित दो वस्तुओं के नाम बताइए जो नायलॉन रेशे की प्रबलता दर्शाती हों।

उत्तर- पैराशूट व चट्टानों पर चढ़ने हेतु रस्सी

प्रश्न 5 खाद्य पदार्थों का संचयन करने हेतु प्लास्टिक पात्रों के उपयोग के तीन प्रमुख लाभ बताइए।

उत्तर-

  • यह हल्का होता है।
  • यह प्रबल होता है।
  • इसमें खाद्य पदार्थ खराब नहीं होता है।

प्रश्न 6 थर्मोप्लास्टिक और थर्मोसेटिंग प्लास्टिक के मध्य अंतर को स्पष्ट कीजिए।

उत्तर –

थर्मोप्लास्टिक- यह ऐसे प्लास्टिक है जो गर्म करने पर आसानी से विकृत हो जाते हैं और सरलता पूर्वक मुड़ जाते हैं। उदाहरण:- पॉलीथिन, पीवीसी पाइप

थर्मोसेटिंग प्लास्टिक- यह ऐसे प्लास्टिक होते हैं जिन्हें एक बार सांचे में ढाल दिया जाता है और उन्हें बाद में उष्मा देकर गर्म नहीं किया जा सकता। उदाहरण:- बिजली के बोर्ड, कुकर का हैंडल।

प्रश्न 7 समझाइए, थर्मोसेटिंग प्लास्टिक से निम्नलिखित क्यों बनाए जाते हैं-

(क) डेगची के हत्थे

(ख) विद्युत प्लग/स्विच/प्लग बोर्ड

उत्तर- (क) डेगची के हत्थे-थर्मोसेटिंग प्लास्टिक ऊष्मा का कुचालक है, इसलिए इसको बनाने मे थर्मोसेटिंग प्लास्टिक का प्रयोग होता है। (ख) विद्युत प्लग/स्विच/प्लग बोर्ड-क्योंकि थर्मोसेटिंग प्लास्टिक विद्युत का कुचालक है, इसलिए इससे विद्युत प्लग/स्विच/प्लग बोर्ड बनाए जाते हैं।

प्रश्न 8 निम्नलिखित पदार्थों को “पुनः चक्रित किये जा सकते है” और “पुनः चक्रित नहीं किये जा सकते हैं”में वर्गीकृत कीजिए- टेलीफोन यंत्र, प्लास्टिक खिलौने, कुकर के हत्थे, सामग्री लाने वाले थैले, बाल प्वाइंट पेन, प्लास्टिक के कटोरे, विद्युत तारों के प्लास्टिक आवरण, प्लास्टिक की कुर्सियां, विद्युत स्विच।

उत्तर- (i) पुन: चक्रित किए जा सकते हैं-प्लास्टिक खिलौने, सामग्री लाने वाले थैले, बाल प्वाइंट पेन, प्लास्टिक के कटोरे, विद्युत तारों के प्लास्टिक आवरण, प्लास्टिक की कुर्सियां।

(ii) पुन: चक्रित नहीं किए जा सकते हैं-टेलिफोन यंत्र, कुकर के हत्थे, विद्युत स्विच।

प्रश्न 9 राणा गर्मियों के लिए कमीजें खरीदना चाहता है। उसे सूती कमीजें खरीदनी चाहिए या संश्लेषित? कारण सहित राणा को सलाह दीजिए।

उत्तर- राणा की गर्मियों के लिए सूती कमीजें खरीदनी चाहिए क्योंकि संश्लेषित कपड़े बहुत जल्दी गर्म हो जाते हैं और फिर शरीर से चिपक जाते हैं। इसलिए इन्हें पहनने वाले को बहुत पसीना आता है। इसके विपरीत सूती कपड़े हवा को अंदर-बाहर आने देते हैं और पसीना सुखा देते हैं।

प्रश्न 10 उदाहरण देकर प्रदर्शित कीजिए कि प्लास्टिक की प्रकृति असंक्षारक होती है।

उत्तर- प्लास्टिक हवा और पानी से क्रिया नहीं करते, इसलिए प्लास्टिक की प्रकृति असंक्षारक है। उदाहरण-घर में प्रयोग होने वाले प्लास्टिक के डिब्बे और बाल्टियों आदि को सालों-साल प्रयोग में लाने के बावजूद न तो उन पर जंग लगता है और न ही रूप रंग में बदलाव आता है।

प्रश्न 11 क्या दाँत साफ़ करने के बुश का हैन्डल और शूक (ब्रिस्टल) एक ही पदार्थ के बनाने चाहिए? अपना उत्तर स्पष्ट करिए।

उत्तर- नहीं। दांत साफ करने के ब्रश का हैन्डल और शूक एक ही पदार्थ के नहीं होने चाहिए। क्योंकि दांत साफ करने के लिए नर्म चीज (नायलॉन) की जरूरत होती है, ताकि दाँत और मसूड़े साफ तो हो जाएँ। परन्तु उन्हें नुकसान नहीं हो, इसके विपरीत बुश का हैन्डल सख्त चीज़ (प्लास्टिक) का होना चाहिए ताकि उसे सही ढंग से पकड़ा जा सके।

प्रश्न 12 “जहाँ तक सम्भव हो प्लास्टिक के उपयोग से बचिए”, इस कथन पर सलाह दीजिए।

उत्तर- प्लास्टिक अनभिक्रियाशील, हल्का, प्रबल, चिरस्थायी तथा विद्युत व ऊष्मा का कुचालक होता है, इसलिए यह बहुत उपयोगी है। परन्तु प्लास्टिक जैव अनिम्नीकरणीय है। अर्थात् यह प्राकृतिक प्रक्रियाओं द्वारा सरलता से विघटित नहीं होता। इसलिए हमें इसका प्रयोग करते समय 4R सिद्धांत को याद रखना चाहिए

(i) उपयोग कम करिए (Reduce)

(ii) पुनः प्रयोग करिए (Reuse)

(iii) पुनः चक्रित करिए (Recycle)

(iv) पुनः प्राप्त करिए (Recover)

प्रश्न 13 कॉलम A के पदों का कॉलम B मैं दिए गए वाक्य खंडों से सही मिलान करिए।

कॉलम Aकॉलम B
  • पॉलिएस्टर
  • टेफलॉन
  • रेयान
  • नायलॉन
  1. काष्ठ लुगदी का उपयोग कर तैयार किया जाता है।
  2. पैराशूट और मोजा बनाने में उपयोग किया जाता है।
  3. ना चिपकने वाले भोजन बनाने के पत्रों में निर्माण में उपयोग किया जाता है।
  4. कपड़े में आसानी से बल नहीं पड़ते।

उत्तर-

पॉलिएस्टर— कपड़े में आसानी से बल नहीं पड़ते।

टेफलॉन— ना चिपकने वाले भोजन बनाने के पत्रों में निर्माण में उपयोग किया जाता है।

रेयान— काष्ठ लुगदी का उपयोग कर तैयार किया जाता है।

नायलॉन— पैराशूट और मोजा बनाने में उपयोग किया जाता है।

प्रश्न 14 ” संश्लेषित रेशो का औद्योगिक निर्माण वास्तव में वनों के संरक्षण में सहायक हो रहा है।” टिप्पणी कीजिए।

उत्तर- ऐसे रेशे जो पौधों अथवा जंतुओं से प्राप्त नहीं किए जाते हैं या मानव निर्मित है वे रेशे कृत्रिम या मानव निर्मित या संश्लेषित रेशे कहलाते हैं। ये रासायनिक पदार्थों का उपयोग कर बनाए जाते हैं। इसलिए इनके निर्माण में पौधों या पेड़ों को काटने की आवश्यकता नहीं होती। दूसरे शब्दों में हम कह सकते हैं कि जहाँ प्राकृतिक रेशों के प्राप्त करने के लिए पेड़ो को काटना पड़ता है, वहीं संश्लेषित रेशों के लिए इसकी जरूरत नहीं होती। इसलिए यह कहना सही है कि संश्लेषित रेशों का औद्योगिक निर्माण वास्तव में वनों के संरक्षण में सहायक हो रहा है।

प्रश्न 15 यह प्रदर्शित करने हेतु एक क्रियाकलाप का वर्णन करिए कि थर्मोप्लास्टिक विद्युत का कुचालक है।

उत्तर- ऐसे प्लास्टिक जो गर्म करने पर आसानी से विकृत हो जाते हैं थर्मोप्लास्टिक कहलाते हैं। उदाहरण: पॉलिथीन और पीवीसी (PVC)।

यदि हम एक सेल के पॉजिटिव और नेगेटिव हिस्सों से तारों को निम्न प्रकार से बांधे और उसके साथ बल्ब और थर्मोप्लास्टिक की वस्तु को दिए गए चित्र के अनुसार जोड़ें तो हम पाते हैं कि बल्ब नहीं जलता। परन्तु अगर इस व्यवस्था से थर्मोप्लास्टिक की वस्तु हटा देते हैं तो बल्ब जल जाता है। इससे यह निष्कर्ष निकलता है कि थर्मोप्लास्टिक विद्युत का कुचालक है और अपने में से विद्युत को प्रवाहित नहीं होने देता।

Download Class 8 Science Chapter 3 Question Answer in Hindi PDF

 

Leave a Comment

error: cclchapter.com