क: रक्षित क: रक्षित: Class 8 संस्कृत Chapter 12 Translation in Hindi ( व्याख्या ) – रुचिरा NCERT Solution

NCERT Solution of Class 8 Sanskrit रुचिरा क: रक्षित क: रक्षित: व्याख्या  for Various Board Students such as CBSE, HBSE, Mp Board,  Up Board, RBSE and Some other state Boards. Class 8 Sanskrit all Chapters NCERT Solution with शब्दार्थ, व्याख्या, Translation in Hindi and English, अभ्यास के प्रश्न उत्तर and important Question answer ncert solution.

Also Read:Class 8 Sanskrit रुचिरा NCERT Solution

NCERT Solution of Class 8th Sanskrit Ruchira /  रुचिरा  Chapter 12 क: रक्षित क: रक्षित: / ka rakshit ka rakshit Vyakhya / व्याख्या /  meaning in hindi / translation in hindi Solution.

क: रक्षित क: रक्षित: Class 8 Sanskrit Chapter 12 व्याख्या


वैभव: — अरे परमिन्दर्! अपि त्वमपि विद्युदभावेन पीडितः बहिरागत ?

परमिन्दर् — आम् मित्र! एकतः प्रचण्डातपकालः अन्यतश्च विद्युदभावः परं बहिरागत्यापि पश्यामि यत् वायुवेगः तु सर्वथाऽवरुद्धः।

सत्यमेवोक्तम्

प्राणिति पवनेन जगत् सकलं, सृष्टिर्निखिला चैतन्यमयी ।

क्षणमपि न जीव्यतेऽनेन विना सर्वातिशायिमूल्यः पवनः॥

शब्दार्थ :- वैभव: – वैभव। अरे परमिन्दर् – हे परमिंदर। अपि – भी। त्वमपि – तुम भी। विद्युदभावेन – बिजली न होने से। पीडितः – पीड़ित होकर। बहिरागत – बाहर आए हो। परमिन्दर् – परमिंदर।  आम् – हां। मित्र – दोस्त। एकतः – एक तो। प्रचण्डातपकालः – तेज गर्मी। अन्यतश्च – और दूसरा। विद्युदभावः – बिजली का अभाव। परं – परंतु। बहिरागत्यापि – बाहर आकर भी। पश्यामि – देखता हूं। यत् – कि। वायुवेगः – वायु वेग। तु – तो। सर्वथाऽवरुद्धः – रुका हुआ है। सत्यमेवोक्तम् – सत्य कहा गया है। प्राणिति – प्राणवान है। पवनेन – हवा से। जगत् – संसार। सकलं – सारा। सृष्टिर्निखिला – पूरी दुनिया। चैतन्यमयी – सजीव है। क्षणमपि – क्षण भर भी। न – नहीं। जीव्यतेऽनेन विना – इसके बिना जीवित। सर्वातिशायिमूल्यः – सबसे अधिक मूल्यवान है। पवनः – हवा।

Translation in Hindi :-

वैभव – हे परमिंदर! क्या तुम भी बिजली ना होने से पीड़ित होकर बाहर आए हो।

परमिंदर – हां दोस्त! एक तो तेज गर्मी और दूसरा बिजली का अभाव। परंतु बाहर आकर भी देखता हूं कि वायु वेग तो रुका हुआ है।

सत्य कहा गया है।

हवा से सारा संसार प्राणवान है।

इसके बिना पूरी दुनिया क्षण भर भी जीवित नहीं रह सकती है। हवा सबसे अधिक मूल्यवान हैं।

Translation in English —

Vaibhav – Oh Parminder! Have you also come out suffering from no electricity?

Parminder – Yes friend! One is the scorching heat and the other is the lack of electricity. But even after coming out I see that the wind speed has stopped.

Truth has been told.

The whole world is alive with air.

Without it the whole world cannot survive even for a moment. Air is the most valuable.


विनय: — अरे मित्र! शरीरात् न केवलं स्वेदबिन्दवः अपितु स्वेदधाराः इव प्रस्रवन्ति स्मृतिपथमायाति शुक्लमहोदयैः रचितः श्लोकः तप्तैर्वाताघातैरवितुं लोकान् नभसि मेघाः, आरक्षिविभागजना इव समये नैव दृश्यन्ते ॥

परमिन्दर् — आम् अद्य तु वस्तुतः एव

निदाघतापतप्तस्य, याति तालु हि शुष्कताम्।

पुंसो भयार्दितस्येव, स्वेदवज्जायते वपुः ॥

शब्दार्थ :- विनय: – विनय। अरे मित्र – हे मित्र। शरीरात् – शरीर से। न – नहीं। केवलं – केवल। स्वेदबिन्दवः – पसीने की बूंदे। अपितु – बल्कि। स्वेदधाराः – पसीने की धारा। इव – ही। प्रस्रवन्ति – बह रही है। स्मृतिपथमायाति – याद आ रहा है।  शुक्लमहोदयैः – शुक्ल महोदय। रचितः – रचित। श्लोकः – श्लोक। तप्तैर्वाताघातैरवितुं – तपती हुई हवा के आघात से बचाने के लिए। लोकान् – लोगों को। नभसि – आकाश में। मेघाः – बादल। आरक्षिविभागजना – सुरक्षा विभाग के लोगों की तरह। इव – इस। समये – समय पर। नैव – नहीं। दृश्यन्ते – दिखाई दे रहे। परमिन्दर् – परमिंदर। आम् – हां। अद्य – आज। तु – तो। वस्तुतः – वास्तव में। एव – ही। निदाघतापतप्तस्य – गर्मी से पीड़ित व्यक्ति का। तालु – तालु। हि – है। शुष्कताम् – सूख जाता। पुंसो भयार्दितस्येव – डरे हुए व्यक्ति की तरह से। स्वेदवज्जायते – पसीने की तरह से हो जाता है। वपुः – शरीर।

Translation in Hindi :-

विनय – हे मित्र! शरीर से केवल पसीने की बूंदे नहीं बल्कि पसीने की धारा ही बह रही है। शुक्ल महोदय द्वारा रचित श्लोक याद आ रहा है। सुरक्षा विभाग के लोगों की तरह तपती हुई हवा के आघात से बचाने के लिए लोगों को आकाश में बादल भी इस समय पर दिखाई नहीं दे रहे।

परमिंदर – हां आज तो वास्तव में ही है।

जिस तरह डरे हुए व्यक्ति का शरीर हो जाता है उसी तरह गर्मी से पीड़ित व्यक्ति का भी तालू सूख जाता है और शरीर पसीने से भर जाता है।

Translation in English —

Vinay – O friend! Not only sweat droplets but sweat streams are flowing from the body. I am remembering a shloka composed by Mr. Shukla. Like the people of the security department, the clouds in the sky are also not visible to the people at this time to protect them from the blow of the scorching air.

Parminder – Yes, it really is today.

Just as the body of a frightened person becomes dry, so also the palate of a person suffering from heat becomes dry and the body fills with sweat.


जोसेफ: — मित्राणि! यत्र-तत्र बहुभूमिकभवनानां, भूमिगतमार्गाणाम्, विशेषतः मैट्रोमार्गाणां, उपरिगामिसेतूनाम् इत्यादीनां निर्माणाय वृक्षाः कर्त्यन्ते तर्हि अन्यत् किमपेक्ष्यते अस्माभिः ? वयं तु विस्मृतवन्तः एव –

एकेन शुष्कवृक्षेण दह्यमानेन वह्निना।

दह्यते तद्वनं सर्व कुपुत्रेण कुलं यथा ॥

शब्दार्थ :- जोसेफ: – जोसेफ। मित्राणि – हे मित्रों। यत्र-तत्र – जहां-तहां। बहुभूमिकभवनानां – बहुमंजिला इमारतों के। भूमिगतमार्गाणाम् – भूमिगत मार्गो के लिए। विशेषतः – विशेष रुप से। मैट्रोमार्गाणां – मेट्रो मार्ग के लिए। उपरिगामिसेतूनाम् – ऊपर से जाने वाले मार्ग के लिए। इत्यादीनां – इत्यादि। निर्माणाय – निर्माण के लिए। वृक्षाः – वृक्ष। कर्त्यन्ते – काटे जा रहे हैं। तर्हि – तो। अन्यत् – और / अन्य। किमपेक्ष्यते – क्या अपेक्षा। अस्माभिः – हम जैसे लोगों से। वयं – हम। तु – तो। विस्मृतवन्तः – भूल गए। एव – ही। एकेन – एक। शुष्कवृक्षेण – सूखे हुए पेड़ के द्वारा। दह्यमानेन – जलते हुए। वह्निना – अग्नि के द्वारा। दह्यते – जला दिया जाता है। तद्वनं – वन। सर्व – पूरे। कुपुत्रेण – कुपुत्र। कुलं – कुल का। यथा – जैसे।

Translation in Hindi :-

जोसेफ – हे मित्रों! जहां-तहां बहुमंजिला इमारतों के लिए, भूमिगत मार्गो के लिए विशेष रुप से मेट्रो मार्ग के लिए और ऊपर से जाने वाले मार्ग इत्यादि निर्माण के लिए वृक्ष काटे जा रहे हैं तो अन्य क्या अपेक्षा हम जैसे लोगों से की जा सकती है। हम तो भूल ही गए —

एक अग्नि से जलते हुए सूखे पेड़ के द्वारा पूरा जंगल जला दिया जाता है जैसे कुपुत्र पूरे कुल का नाश करता है।

Translation in English —

Joseph – O friends! Wherever trees are being cut for the construction of multi-storey buildings, for underground roads, especially for the metro route and for the construction of the way to the top, then what else can be expected from people like us. We forgot –

The whole forest is burnt by a dry tree burning by a fire like a miscreant destroys the whole family.


परमिन्दर् — आम् एतदपि सर्वथा सत्यम्। आगच्छन्तु नदीतीरं गच्छामः। तत्र चेत् काञ्चित् शान्तिं प्राप्तुं शक्ष्येम।

( नदीतीरं गन्तुकामा: बालाः यत्र-तत्र अवकरभाण्डारं दृष्ट्वा वार्तालापं कुर्वन्ति)

जोसेफ: — पश्यन्तु मित्राणि यत्र-तत्र प्लास्टिकस्यूतानि अन्यत् चावकरं प्रक्षिप्तमस्ति । कथ्यते यत् स्वच्छता स्वास्थ्यकरी परं वयं तु शिक्षिताः अपि अशिक्षित इवाचरामः अनेन प्रकारेण…..

वैभव: — गृहाणि तु अस्माभिः नित्यं स्वच्छानि क्रियन्ते परं किमर्थं स्वपर्यावरणस्य स्वच्छतां प्रति ध्यान न दीयते।

विनयः — पश्य-पश्य उपरितः इदानीमपि अवकर: मार्गे क्षिप्यते।

शब्दार्थ :- परमिन्दर् – परमिंदर। आम् – हां। एतदपि – यह भी। सर्वथा – हमेशा। सत्यम् – सत्य हैं। आगच्छन्तु – आइए। नदीतीरं – नदी के किनारे। गच्छामः – चलते हैं। तत्र – वहां। चेत् – पर। काञ्चित् – कुछ। शान्तिं – शांति। प्राप्तुं – प्राप्त। शक्ष्येम – कर सकेंगे। नदीतीरं – नदी के किनारे। गन्तुकामा: – जाने के इच्छुक। बालाः – बालक। यत्र-तत्र – जहां-तहां। अवकरभाण्डारं – कचरे का ढेर। दृष्ट्वा – देखकर। वार्तालापं – बातचीत। कुर्वन्ति – करते हैं। जोसेफ: – जोसेफ। पश्यन्तु – देखो। मित्राणि – मित्र। यत्र-तत्र – जहां-तहां। प्लास्टिकस्यूतानि – प्लास्टिक की थैलियां। अन्यत् – अन्य। चावकरं – और कचरा। प्रक्षिप्तमस्ति – फेंका हुआ है। कथ्यते – कहते हैं। यत् – कि। स्वच्छता – स्वच्छता। स्वास्थ्यकरी – स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होती है। परं – परंतु। वयं – हम सब। तु – तो। शिक्षिताः – शिक्षित। अपि – भी। अशिक्षित – अशिक्षित। इवाचरामः – व्यवहार कर रहे है। अनेन – इस। प्रकारेण – प्रकार। वैभव: – वैभव। गृहाणि – घर। तु – तो। अस्माभिः – हमारे द्वारा। नित्यं – प्रतिदिन। स्वच्छानि – साफ। क्रियन्ते – किया जाता है। परं – परंतु। किमर्थं – किस कारण से। स्वपर्यावरणस्य – हमारे पर्यावरण की। स्वच्छतां – सफाई के। प्रति – प्रति। ध्यान – ध्यान। न – नहीं। दीयते – देते हैं। विनयः – विनय। पश्य-पश्य – देखो देखो। उपरितः – ऊपर से। इदानीमपि – अभी भी। अवकर: – कचरा। मार्गे – मार्ग में। क्षिप्यते – फेंका जा रहा है।

Translation in Hindi :-

परमिंदर – हां यह भी हमेशा सत्य हैं। आइए नदी के किनारे चलते हैं। वहां पर कुछ शांति प्राप्त कर सकेंगे।

(नदी के किनारे जाने के इच्छुक बालक जहां-तहां कचरे का ढेर देखकर बातचीत करते हैं।)

जोसेफ – देखो मित्र जहां-तहां प्लास्टिक की थैलियां और अन्य कचरा फेंका हुआ है। कहते हैं कि स्वच्छता ही स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होती है। परंतु हम सब तो शिक्षित होते हुए भी अनपढ़ जैसा व्यवहार कर रहे हैं। इस प्रकार ………….

वैभव – घर तो हमारे द्वारा प्रतिदिन साफ किया जाता है। परंतु किस कारण से हमारे पर्यावरण की सफाई के प्रति ध्यान नहीं देते हैं।

विनय – देखो देखो। ऊपर से अभी भी कचरा रास्ते में फेंका जा रहा है।

Translation in English —

Parminder – Yes it is always true. Let’s go to the bank of the river. There you will be able to find some peace.

(Children wishing to go to the bank of the river talk seeing the piles of garbage everywhere.)

Joseph – Look friend, plastic bags and other garbage are thrown everywhere. It is said that cleanliness is beneficial for health. But we all are behaving like illiterate despite being educated. Thus ………….

Vaibhav – The house is cleaned daily by us. But for what reason do not pay attention to the cleanliness of our environment.

Vinay – Look look. Garbage is still being thrown on the way from above.


(आहूय) महोदये! कृपां कुरु मार्गे एतत् तु सर्वथा अशोभन कृत्यम्। अस्मद्सदृशेभ्य: बालेभ्यः भवतीसदृशैः एवं संस्कारा देयाः।

रोजलिन् — आम् पुत्र! सर्वथा सत्यं वदसि । क्षम्यन्ताम्। इदानीमेवागच्छामि। (रोजलिन् आगत्य बालैः साकं स्वक्षिप्तमवकर मार्ग विकीर्णमन्यदवकरं चापि सङ्ग्रहा अवकरकण्डोले पातयति)

बाला: — एवमेव जागरूकतया एव प्रधानमन्त्रिमहोदयानां स्वच्छताऽभियानमपि गतिं प्राप्स्यति ।

विनय: — पश्य पश्य तत्र धेनुः शाकफलानामावरणैः सह प्लास्टिकस्यूतमपि खादति। यथाकथञ्चित् निवारणीया एषा

( मार्गे कदलीफलविक्रेतारं दृष्ट्वा बालाः कदलीफलानि क्रीत्वा धेनुमाह्वयन्ति भोजयन्ति च, मार्गात् प्लास्टिकस्यूतानि चापसार्य पिहिते अवकरकण्डोले क्षिपन्ति )

शब्दार्थ :- आहूय – पुकारते हुए। महोदये – हे महोदया। कृपां – कृपा।  कुरु – करो। मार्गे – रास्ते पर। एतत् – यह। तु – तो। सर्वथा – बिल्कुल। अशोभन – बुरा। कृत्यम् – कार्य है। अस्मद्सदृशेभ्य: – हम जैसे। बालेभ्यः – बालकों को। भवतीसदृशैः – आप जैसी महिलाओं के द्वारा। एवं – इस प्रकार। संस्कारा – संस्कार। देयाः – दिए जाएंगे। रोजलिन् – रोजलिन। आम् – हां। पुत्र – बेटा। सर्वथा – बिल्कुल। सत्यं – सही। वदसि – कह रहे हो। क्षम्यन्ताम् – मुझे माफ कीजिए। इदानीमेवागच्छामि – अभी आती हूं। रोजलिन् – रोजलिन। आगत्य – आकर। बालैः – बालकों के। साकं – साथ। स्वक्षिप्तमवकर – अपने द्वारा फेंका हुआ कचरा। मार्ग – रास्ते पर। विकीर्णमन्यदवकरं – बिखरा हुआ अन्य कचरा। चापि – और भी। सङ्ग्रहा – इकट्ठा करके। अवकरकण्डोले – कचरा पात्र में। पातयति – डालती है। बाला: – बालक।  एवमेव – इसी प्रकार। जागरूकतया – जागरूकता से। एव – ही। प्रधानमन्त्रिमहोदयानां – प्रधानमंत्री महोदय के। स्वच्छताऽभियानमपि – स्वच्छता अभियान भी। गतिं – गति। प्राप्स्यति – प्राप्त करेगा। विनय: – विनय। पश्य – देखो। तत्र – वहां। धेनुः – गाय। शाकफलानामावरणैः – सब्जी और फलों के छिलके के। सह – साथ। प्लास्टिकस्यूतमपि – प्लास्टिक की थैलियां भी। खादति – खा रही है। यथाकथञ्चित् – अवश्य ही। निवारणीया – निवारणीय है। एषा – यह।  मार्गे – रास्ते पर। कदलीफलविक्रेतारं – केले बेचने वाले को। दृष्ट्वा – देखकर। बालाः – बालक। कदलीफलानि – केले। क्रीत्वा – खरीद कर। धेनुमाह्वयन्ति – गाय को बुलाते हैं। भोजयन्ति – उसे खिलाते हैं। च – और। मार्गात् – रास्ते से। प्लास्टिकस्यूतानि – प्लास्टिक की थैलियां। चापसार्य – और हटाकर। पिहिते – ढके हुए। अवकरकण्डोले – कचरा पात्र में। क्षिपन्ति – फेंकते हैं।

Translation in Hindi :-

(पुकारते हुए) हे महोदया! कृपया करो। रास्ते पर यह तो बिल्कुल बुरा कार्य हैं। हम जैसे बालकों को आप जैसी महिलाओं के द्वारा इस प्रकार के संस्कार दिए जाएंगे।

रोजलिन – हां बेटा! बिल्कुल सही कह रहे हो। मुझे माफ कीजिए। अभी आती हूं। ( रोजलिन आकर बालकों के साथ अपने द्वारा फेंका हुआ कचरा और भी बिखरा हुआ अन्य कचरा इकट्ठा करके कचरा पात्र में डालती है।)

बालक – इसी प्रकार जागरूकता से प्रधानमंत्री महोदय के स्वच्छता अभियान को भी गति प्राप्त होगी।

विनय – देखो देखो वहां गाय सब्जी और फलों के छिलकों के साथ प्लास्टिक की थैलियां भी खा रही है। अवश्य ही यह निवारणीय है।

(रास्ते पर केले बेचने वाले को देख कर बालक केले खरीद कर गाय को बुलाते हैं। उसे केले खिलाते हैं और रास्ते से प्लास्टिक की थैलियां हटाकर उन्हें ढके हुए कचरा पात्र में फेंकते हैं।)

Translation in English —

(calling out) Oh madam! please do These are absolutely bad deeds on the way. Children like us will be given such values ​​by women like you.

Roslyn – Yes son! You are absolutely right. Forgive me. I come now (Roslyn comes along with the children and collects the garbage she has thrown and the other garbage scattered and puts them in the garbage can.)

Children – Similarly, the cleanliness campaign of the Prime Minister will also gain momentum due to awareness.

Vinay – Look, there the cow is eating plastic bags along with the peels of vegetables and fruits. Surely it is preventable.

(Seeing the banana seller on the way, the boys buy bananas and call the cow. Feed him bananas, remove the plastic bags from the road and throw them in a covered garbage can.)


परमिन्दर् —  प्लास्टिकस्य मृत्तिकायां लयाभवात् अस्माकं पर्यावरणस्य कृते महती क्षतिः भवति। पूर्वं तु कार्पासेन, चर्मणा, लौहेन, लाक्षया, मृत्तिकया, काष्ठेन वा निर्मितानि वस्तूनि एवं प्राप्यन्ते स्म। अधुना तत्स्थाने प्लास्टिकनिर्मितानि वस्तूनि एव प्राप्यन्ते

वैभव: — आम् घटिपट्टिका, अन्यानि बहुविधानि पात्राणि, कलमेत्यादीनि सर्वाणि तु प्लास्टिकनिर्मितानि भवन्ति।

जोसेफ: — आम् अस्माभिः पित्रोः शिक्षकाणां सहयोगेन प्लास्टिकस्य विविधपक्षाः विचारणीयाः। पर्यावरणेन सह पशवः अपि रक्षणीयाः। (एवमेवालपन्तः सर्वे नदीतीरं प्राप्ताः, नदीजले निमज्जिताः भवन्ति गायन्ति च –)

सुपर्यावरणेनास्ति जगतः
सुस्थितिः सखे।
जगति जायमानानां सम्भवः
सम्भवो भुवि ॥

सर्वे — अतीवानन्दप्रदोऽयं जलविहारः।

शब्दार्थ :- प्लास्टिकस्य – प्लास्टिक के। मृत्तिकायां  – मिट्टी में। लयाभवात् – मिलने के अभाव के कारण। अस्माकं – हमारे। पर्यावरणस्य – पर्यावरण। कृते – के लिए। महती – बहुत बड़ी। क्षतिः – हानि। भवति – होती है। पूर्वं – पहले। तु – तो। कार्पासेन – कपास से। चर्मणा – चमड़े से। लौहेन – लोहे से। लाक्षया – लाख से। मृत्तिकया – मिट्टी से। काष्ठेन – लकड़ी से। वा – और। निर्मितानि – निर्मित। वस्तूनि – वस्तुएं। एवं – ही। प्राप्यन्ते – प्राप्त। स्म – होती थी। अधुना – आज तो। तत्स्थाने – उसके स्थान पर। प्लास्टिकनिर्मितानि – प्लास्टिक से बनी हुई। वस्तूनि – वस्तुएं। ‌एव – ही। प्राप्यन्ते – प्राप्त होती हैं। आम् – हां। घटिपट्टिका – घड़ी का फीता। अन्यानि – और अन्य। बहुविधानि – बहुत प्रकार के। पात्राणि – बर्तन। कलमेत्यादीनि – पैन इत्यादि। सर्वाणि – सब कुछ ही। तु – तो। प्लास्टिकनिर्मितानि – प्लास्टिक से बना हुआ। भवन्ति – होता है। आम् – हां। अस्माभिः – हमारे द्वारा। पित्रोः – माता पिता के। शिक्षकाणां – शिक्षकों के। सहयोगेन – सहयोग से। प्लास्टिकस्य – प्लास्टिक के। विविधपक्षाः – विविध पक्ष। विचारणीयाः – विचार किए जाने चाहिए। पर्यावरणेन – पर्यावरण के। सह – साथ साथ। पशवः – पशुओं की। अपि – भी। रक्षणीयाः – रक्षा करनी चाहिए। एवमेवालपन्तः – इस प्रकार बातचीत करते हुए। सर्वे – सभी। नदीतीरं – नदी किनारे के। प्राप्ताः – पास जाकर। नदीजले – नदी के जल में। निमज्जिताः – डुबकी लगाते हैं। भवन्ति – है। गायन्ति – गाते हैं। च – और। सुपर्यावरणेनास्ति – अच्छे पर्यावरण से ही है। जगतः – संसार की। सुस्थितिः – अच्छी स्थिति। सखे – हे मित्र। जगति – संसार में। जायमानानां – उत्पन्न होने वाले जीवो का। सम्भवः – जन्म। सम्भवो – संभव है। भुवि – भूमि पर। सर्वे – सभी। अतीवानन्दप्रदोऽयं – अत्यधिक आनंदायक है। जलविहारः – जलविहार।

Translation in Hindi :-

परमिंदर – प्लास्टिक के मिट्टी में मिलने के अभाव के कारण हमारे पर्यावरण के लिए बहुत बड़ी हानि होती है। पहले तो कपास से, चमड़े से, लोहे से, लाख से, मिट्टी से और लकड़ी से निर्मित वस्तु ही प्राप्त होती थी। आज तो उसके स्थान पर प्लास्टिक से बनी हुई वस्तु ही प्राप्त होती हैं।

वैभव – हां। घड़ी का फीता और अन्य बहुत प्रकार के बर्तन, पैन इत्यादि सब कुछ ही तो प्लास्टिक से बना हुआ होता है।

जोसेफ – हां हमारे द्वारा माता पिता और शिक्षकों के सहयोग से प्लास्टिक के विविध पक्ष विचार किए जाने चाहिए। पर्यावरण के साथ-साथ पशुओं की भी रक्षा करनी चाहिए। ( इस प्रकार बातचीत करते हुए सभी नदी किनारे के पास जाकर नदी में डुबकी लगाते हैं और गाते हैं —)

हे मित्र अच्छे पर्यावरण से ही जगत की अच्छी स्थिति और संसार में उत्पन्न होने वाले जीवो का भूमि पर जन्म संभव है।

सभी – जलविहार अत्यधिक आनंदायक है।

Translation in English —

Parminder – Due to the absence of plastic in the soil, there is a great loss for our environment. Earlier only articles made from cotton, from leather, from iron, from lac, of clay and of wood were available. Today, in its place only things made of plastic are found.

Vaibhav – Yes. The clock belt and many other types of utensils, pans, etc., are all made of plastic.

Joseph – Yes, we should consider the various aspects of plastic with the help of parents and teachers. Along with the environment, animals should also be protected. (In this way, everyone goes near the river bank and takes a dip in the river and sings —)

O friend, only with a good environment, a good condition of the world and the birth of the creatures born in the world on the land is possible.

All – The waterfront is extremely enjoyable.

Leave a Comment

error: cclchapter.com