सप्तभगिन्य: Class 8 संस्कृत Chapter 9 Translation in Hindi ( व्याख्या ) – रुचिरा NCERT Solution

NCERT Solution of Class 8 Sanskrit रुचिरा सप्तभगिन्य: व्याख्या  for Various Board Students such as CBSE, HBSE, Mp Board,  Up Board, RBSE and Some other state Boards. Class 8 Sanskrit all Chapters NCERT Solution with शब्दार्थ, व्याख्या, Translation in Hindi and English, अभ्यास के प्रश्न उत्तर and important Question answer ncert solution.

Also Read:Class 8 Sanskrit रुचिरा NCERT Solution

NCERT Solution of Class 8th Sanskrit Ruchira /  रुचिरा  Chapter 9 सप्तभगिन्य: / saptbhaginya Vyakhya / व्याख्या /  meaning in hindi / translation in hindi Solution.

सप्तभगिन्य: Class 8 Sanskrit Chapter 9 व्याख्या


अध्यापिका — सुप्रभातम्।

छात्राः — सुप्रभातम्। सुप्रभातम्।

अध्यापिका — भवतु। अद्य किं पठनीयम्?

छात्राः — वयं सर्वे स्वदेशस्य राज्यानां विषये ज्ञातुमिच्छामः।

अध्यापिका — शोभनम्। वदत। अस्माकं देशे कति राज्यानि सन्ति?

सायरा — चतुर्विंशतिः महोदये!

सिल्वी — न हि न हि महाभागे ! पञ्चविंशतिः राज्यानि सन्ति ।

अध्यापिका — अन्यः कोऽपि….?

शब्दार्थ :-  सुप्रभातम् – सुप्रभात। छात्राः – छात्र। भवतु – अच्छा। अद्य – आज। किं – क्या। पठनीयम् – पढ़ना है। वयं – हम। सर्वे – सभी। स्वदेशस्य – अपने देश के। राज्यानां – राज्यों के। विषये – विषय में। ज्ञातुमिच्छामः – जानने के लिए इच्छुक हैं। शोभनम् – अच्छा। वदत – बताइए। अस्माकं हमारे। देशे – देश में। कति – कितने। राज्यानि – राज्य। सन्ति – है। चतुर्विंशतिः – चौबीस। महोदये – महोदय। न – नहीं। हि – है। महाभागे – महोदया। पञ्चविंशतिः – पच्चीस। राज्यानि – राज्य। सन्ति – है। अन्यः – अन्य। कोऽपि – कोई और।

Translation in Hindi :-

अध्यापिका — सुप्रभात।

छात्र — सुप्रभात। सुप्रभात।

अध्यापिका — अच्छा। आज क्या पढ़ना चाहते हो?

छात्र — हम सभी अपने देश के राज्यों के विषय में जानने के लिए इच्छुक हैं।

अध्यापिका — बहुत अच्छा। बताइए। हमारे देश में कितने राज्य हैं?

सायरा — चौबीस महोदय।

सिल्वी — नहीं नहीं महोदय! पच्चीस राज्य हैं।

अध्यापिका — अन्य कोई और……?

Translation in English —

Teacher – Good morning.

Students – Good morning. Good morning.

Teacher – Okay. What do you want to study today?

Students – We all are interested to know about the states of our country.

Teacher – Very good. Tell me How many states are there in our country?

Saira – twenty four mam.

Sylvie – No no mam! There are twenty five states.

Teacher – Anyone else……?


स्वरा — (मध्ये एव) महोदये! मे भगिनी कथयति यदस्माकं देशे नवविंशतिः राज्यानि सन्ति । एतदतिरिच्य सप्त केन्द्रशासित प्रदेशाः अपि सन्ति।

अध्यापिका — सम्यग्जानाति ते भगिनी। भवतु, अपि जानीथ यूयं यदेतेषु राज्येषु सप्तराज्यानाम् एकः समवायोऽस्ति यः सप्तभगिन्यः इति नाम्ना प्रथितोऽस्ति।

सर्वे — ( साश्चर्यम् परस्परं पश्यन्तः) सप्तभगिन्यः ? सप्तभगिन्यः ?

निकोलस: — इमानि राज्यानि सप्तभगिन्यः इति किमर्थं कथ्यन्ते?

अध्यापिका — प्रयोगोऽयं प्रतीकात्मको वर्तते। कदाचित् सामाजिक-सांस्कृतिक परिदृश्यानां साम्याद् इमानि उक्तोपाधिना प्रथितानि।

समीक्षा — कौतूहलं मे न खलु शान्तिं गच्छति, श्रावयतु तावद् यत् कानि तानि राज्यानि ?

शब्दार्थ :- मध्ये – बीच में। एव – ही। महोदये – महोदय। मे – मेरी। भगिनी – बहन। कथयति – कहती है। यदस्माकं – कि हमारे। देशे – देश में। नवविंशतिः – उनतीस। राज्यानि – राज्य। सन्ति – है। एतदतिरिच्य – इसके अतिरिक्त। सप्त – सात। केन्द्रशासित – केंद्र शासित। प्रदेशाः – प्रदेश। अपि – भी। सन्ति – है।  सम्यग्जानाति – सही जानती है। ते – तुम्हारी। भगिनी – बहन। भवतु – अच्छा। अपि – यह भी। जानीथ – जानते हो। यूयं – तुम सब। यदेतेषु – इनमें। राज्येषु – राज्यों में। सप्तराज्यानाम् – सात राज्यों का। एकः – एक। समवायोऽस्ति – समूह है। यः – जो। सप्तभगिन्यः – सात बहने। इतति – इस। नाम्ना – नाम से। प्रथितोऽस्ति – प्रसिद्ध है। सर्वे – सभी।  साश्चर्यम् – आश्चर्य सहित। परस्परं – एक दूसरे की तरफ। पश्यन्तः – देखते हैं। सप्तभगिन्यः – सात बहने। निकोलस: – निकोलस। इमानि – ये। राज्यानि – राज्य। सप्तभगिन्यः – सात बहने। इति – यह। किमर्थं – क्यों। कथ्यन्ते – कहते हैं। प्रयोगोऽयं – यह प्रयोग। प्रतीकात्मको – प्रतीकात्मक। वर्तते – है। कदाचित् – संभवत:। सामाजिक-सांस्कृतिक – सामाजिक और सांस्कृतिक। परिदृश्यानां – परिदृश्य। साम्याद् – समानता के कारण। इमानि – ये राज्य। उक्तोपाधिना – कहीं गई उपाधि से। प्रथितानि – प्रसिद्ध है। कौतूहलं – जिज्ञासा। मे – मेरी। न – नहीं। शान्तिं – शांत। गच्छति – हो रही है। श्रावयतु – सुनाइए। तावद् – तो। यत् – कि। कानि – कौन से। तानि – वह सब। राज्यानि – राज्य हैं।

Translation in Hindi :-

स्वरा — ( बीच में ही ) महोदय! मेरी बहन कहती है कि हमारे देश में उनतीस राज्य हैं। इसके अतिरिक्त सात केंद्र शासित प्रदेश में है।

अध्यापिका — तुम्हारी बहन सही जानती है। अच्छा, क्या तुम सब जानते हो कि इन राज्यों में सात राज्यों का एक समूह भी है। जो ‘सात बहने’ इस नाम से प्रसिद्ध है।

सभी — ( आश्चर्य सहित एक दूसरे की तरफ देखते हैं ) सात बहने ? सात बहने ?

निकोलस — ये राज्य सात बहने क्यों कहलाते हैं?

अध्यापिका — यह प्रयोग प्रतीकात्मक है। संभवत: सामाजिक और सांस्कृतिक परिदृश्य की समानता के कारण यह राज्य कहीं गई उपाधि से प्रसिद्ध है।

समीक्षा — मेरी जिज्ञासा शांत नहीं हो रही है, तो सुनाइए महोदय कि वह सब कौन से राज्य हैं।

Translation in English —

Swara – (in the middle) Mam! My sister says that there are twenty nine states in our country. Apart from this, there are seven union territories.

Teacher – Your sister knows right. Well, do you all know that in these states there is also a group of seven states. Which is famous by the name ‘seven sisters’.

All – (looks at each other with surprise) Seven sisters? seven sisters?

Nicholas – Why are these kingdoms called Seven Sisters?

Teacher: This experiment is symbolic. Perhaps due to the similarity of social and cultural landscape, this state is famous by the title given somewhere.

Samiksha – My curiosity is not getting pacified, so tell me Mam what are all those states.


अध्यापिका — शृणुत!

अद्वयं मत्रयं चैव न-त्रि-युक्तं तथा द्वयम्।

सप्तराज्यसमूहोऽयं भगिनीसप्तकं मतम्।।

इत्थं भगिनीसप्तके इमानि राज्यानि सन्ति-अरुणाचलप्रदेशः, असमः, मणिपुरम्, मिजोरमः, मेघालयः, नगालैण्डः, त्रिपुरा चेति। यद्यपि क्षेत्रपरिमाणैः इमानि लघूनि वर्तन्ते तथापि गुणगौरवदृष्ट्या बृहत्तराणि प्रतीयन्ते।

सर्वे — कथम्? कथम्?

अध्यापिका — इमाः सप्तभगिन्यः स्वीये प्राचीनेतिहासे प्राय: स्वाधीना: एव दृष्टाः। न केनापि शासकेन इमाः स्वायत्तीकृताः। अनेक-संस्कृति-विशिष्टायां भारतभूमौ एतासां भगिनीनां संस्कृतिः महत्त्वाधायिनी इति।

तन्वी — अयं शब्द: सर्वप्रथमं कदा प्रयुक्त ?

शब्दार्थ :-  शृणुत – सुनिए। अद्वयं – अ से प्रारंभ होने वाले दो राज्य। मत्रयं – म से प्रारंभ होने वाले तीन राज्य। चैव – और। न-त्रि-युक्तं – न और त्रि से प्रारंभ होने वाले राज्य। द्वयम् – दो। सप्तराज्यसमूहोऽयं – सात राज्यों का यह समूह। भगिनीसप्तकं – सात बहने। मतम् – माना गया है। इत्थं – इस प्रकार। भगिनीसप्तके – सात बहनों के इस समूह में। इमानि – ये। राज्यानि – राज्य। सन्ति – हैं। अरुणाचलप्रदेशः – अरुणाचल प्रदेश। असमः – असम। मणिपुरम् – मणिपुर। मिजोरमः – मिजोरम। मेघालयः – मेघालय। नगालैण्डः – नागालैंड। त्रिपुरा – त्रिपुरा। चेति – और। यद्यपि – हालांकि। क्षेत्रपरिमाणैः – क्षेत्रफल की दृष्टि से। इमानि – ये सब राज्य। लघूनि – छोटे। वर्तन्ते – है। तथापि – फिर भी। गुणगौरवदृष्ट्या – गुण और गौरव की दृष्टि से। बृहत्तराणि – बहुत बड़े। प्रतीयन्ते – प्रतीत होते हैं। सर्वे – सभी। कथम् – कैसे।  इमाः – ये। सप्तभगिन्यः – सात बहने। स्वीये – अपने। प्राचीनेतिहासे – प्राचीन इतिहास में। प्राय: – आमतौर पर। स्वाधीना: – स्वतंत्र। एव – ही। दृष्टाः – दिखाई देते हैं। न – नहीं। केनापि – किसी भी। शासकेन – शासक के द्वारा। इमाः ये राज्य। स्वायत्तीकृताः – अपने अधीन किए गए। अनेक-संस्कृति-विशिष्टायां – अनेक संस्कृति की विशेषता वाली। भारतभूमौ – भारत भूमि में। एतासां – इन। भगिनीनां – बहनों की। संस्कृतिः – संस्कृति। महत्त्वाधायिनी – बहुत महत्वपूर्ण। इति – है। अयं – यह। शब्द: – शब्द। सर्वप्रथमं – सबसे पहले। कदा – कब। प्रयुक्त – प्रयोग हुआ।

Translation in Hindi :-

अध्यापिका — सुनो!

अ से प्रारंभ होने वाले दो राज्य, म से प्रारंभ होने वाले तीन राज्य और न तथा त्रि से प्रारंभ होने वाले दो राज्य, इन सात राज्यों का समूह सात बहनें माना गया है।

इस प्रकार सात बहनों के समूह में ये राज्य हैं — अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मिजोरम, मेघालय, नागालैंड और त्रिपुरा। हालांकि क्षेत्रफल की दृष्टि से यह सब राज्य छोटे हैं फिर भी गुण और गौरव की दृष्टि से बहुत बड़े प्रतीत होते हैं।

सभी — कैसे? कैसे?

अध्यापिका — ये सात बहने अपने प्राचीन इतिहास के अंदर आमतौर पर स्वतंत्र ही दिखाई देते हैं। किसी भी शासक के द्वारा ये राज्य अपने अधीन नहीं किए गए। अनेक संस्कृति की विशेषता वाली भारत भूमि में इन बहनों की संस्कृति बहुत महत्वपूर्ण है।

तन्वी — यह सब सबसे पहले कब प्रयोग हुआ?

Translation in English —

Teacher – Listen!

Two states starting from A, three states starting from M and two states starting from N and Tri. the group of these seven states is considered as seven sisters.

Thus these states in the group of seven sisters are – Arunachal Pradesh, Assam, Manipur, Mizoram, Meghalaya, Nagaland and Tripura. Although all these states are small in terms of area, yet they seem very big in terms of merit and glory.

All – how? how?

Teacher – These seven sisters usually appear independent within their ancient history. These states were not subjugated by any ruler. The culture of these sisters is very important in the land of India which is characterized by many cultures.

Tanvi: When was all this used for the first time?


अध्यापिका — श्रुतमधुरशब्दोऽयं सर्वप्रथमं विगतशताब्दस्य द्विसप्ततितमे वर्षे त्रिपुराराज्यस्योद्घाटनक्रमे केनापि प्रवर्तितः। अस्मिन्नेव काले एतेषां राज्यानां पुनः सङ्घटनं विहितम्।

स्वरा — अन्यत् किमपि वैशिष्ट्यमस्ति एतेषाम्?

अध्यापिका — नूनम् अस्ति एव । पर्वत-वृक्ष-पुष्प-प्रभृतिभिः प्राकृतिकसम्पद्भिः सुसमृद्धानि सन्ति इमानि राज्यानि। भारतवृक्षे च पुष्प-स्तबकसदृशानि विराजन्ते एतानि।

राजीव: – भवति! गृहे यथा सर्वाधिका रम्या मनोरमा च भगिनी भवति तथैव भारतगृहेऽपि सर्वाधिका: रम्या: इमाः सप्तभगिन्यः सन्ति।

अध्यापिका — मनस्यागता ते इयं भावना परमकल्याणमयी परं सर्वे न तथा अवगच्छन्ति। अस्तु, अस्ति तावदेतेषां विषये किञ्चिद् वैशिष्ट्यमपि कथनीयम्। सावहितमनसा शृणुत—

जनजातिबहुलप्रदेशोऽयम् । गारो-खासी नगा – मिजो-प्रभृतयः बहवः जनजातीयाः अत्र निवसन्ति। शरीरेण ऊर्जस्विनः एतत्प्रादेशिका : बहुभाषाभिः समन्विताः, पर्वपरम्पराभिः परिपूरिताः, स्वलीला- कलाभिश्च निष्णाताः सन्ति ।

मालती — महोदये। तत्र तु वंशवृक्षा अपि प्राप्यन्ते?

शब्दार्थ :-  श्रुतमधुरशब्दोऽयं – सुनने में यह मधुर शब्द। सर्वप्रथमं – सबसे पहले। विगतशताब्दस्य – पिछली शताब्दी के। द्विसप्ततितमे – बहत्तर। वर्षे – ईस्वी में। त्रिपुराराज्यस्योद्घाटनक्रमे – त्रिपुरा राज्य के उद्घाटन के अवसर पर। केनापि – किसी के द्वारा। प्रवर्तितः – प्रयोग किया गया। अस्मिन्नेव – इसी। काले – समय। एतेषां – इन। राज्यानां – राज्यों का। पुनः – फिर से। सङ्घटनं – संगठन। विहितम् – किया गया। अन्यत् – और। किमपि – क्या। वैशिष्ट्यमस्ति – विशेषता है। एतेषाम् – इनकी। नूनम् – निश्चित रूप से। अस्ति – है। एव – ही । पर्वत-वृक्ष-पुष्प-प्रभृतिभिः – पर्वत, वृक्ष और फूल इत्यादि से। प्राकृतिकसम्पद्भिः – प्राकृतिक संपदा से। सुसमृद्धानि – धनवान। सन्ति – है। इमानि – ये सब। राज्यानि – राज्य। भारतवृक्षे – भारत रूपी वृक्ष पर। च – और। पुष्प-स्तबकसदृशानि – फूलों के गुच्छे के समान। विराजन्ते – सुशोभित होते हैं। एतानि – ये सब। राजीव: – राजीव। भवति – महोदया। गृहे – घर में। यथा – जैसे। सर्वाधिका – सबसे अधिक। रम्या – सुंदर। मनोरमा – मनोहर। च – और। भगिनी – बहन। भवति – होती है। तथैव – उसी प्रकार। भारतगृहेऽपि – भारत रूपी घर में भी। सर्वाधिका: – सबसे अधिक। रम्या: – सुंदर। इमाः – ये सब। सप्तभगिन्यः – सात बहने। सन्ति – है। मनस्यागता – मन में आई हुई। ते – तुम्हारी। इयं – यह। भावना – विचार / भावना। परमकल्याणमयी – बहुत कल्याणकारी। परं – परंतु। सर्वे – सभी। न – नहीं। तथा – इसी प्रकार से। अवगच्छन्ति – समझते हैं। अस्तु – ठीक। अस्ति – है। तावदेतेषां – इनके। विषये – बारे में। किञ्चिद् – कुछ। वैशिष्ट्यमपि – विशेष भी। कथनीयम् – कहना है। सावहितमनसा – सावधान मन से। शृणुत – सुनिए। जनजातिबहुलप्रदेशोऽयम् – ये प्रदेश अत्याधिक जनजाति वाले है। । गारो-खासी-नगा- मिजो-प्रभृतयः – गारो, खासी, नगा, मिजो इत्यादि। बहवः – अनेक। जनजातीयाः – जनजातियां। अत्र – यहां। निवसन्ति – रहती हैं। शरीरेण – शरीर से। ऊर्जस्विनः – ऊर्जावान। एतत्प्रादेशिका: – इन प्रदेशों के लोग। बहुभाषाभिः – बहुत भाषाओं से। समन्विताः – युक्त हैं। पर्वपरम्पराभिः – त्योहारों और परंपराओं से भी। परिपूरिताः – परिपूर्ण है। स्वलीला-कलाभिश्च – अपने कार्य और कलाओं में। निष्णाताः – निपुण। सन्ति – है। महोदये – महोदया। तत्र – वहां। तु – तो। वंशवृक्षा – बांस के पेड़। अपि – भी। प्राप्यन्ते – पाए जाते हैं।

Translation in Hindi :-

अध्यापिका — सुनने में यह मधुर शब्द सबसे पहले पिछली शताब्दी के बहत्तर ( 1972 ) ईस्वी में त्रिपुरा राज्य के उद्घाटन के अवसर पर किसी के द्वारा प्रयोग किया गया। इसी समय इन राज्यों का फिर से संगठन किया गया।

स्वरा — कोई और विशेषता है क्या इनकी?

अध्यापिका — निश्चित रूप से ही है। पर्वत, वृक्ष और फूल इत्यादि से और प्राकृतिक संपदा से यह सब राज्य धनवान है भारत रूपी वृक्ष पर फूलों के गुच्छे के समान सुशोभित हैं।

राजीव — महोदया! घर में जैसे सबसे अधिक सुंदर और मनोहर बहन होती है उसी प्रकार भारत रूपी घर में सबसे अधिक सुंदर ये सात बहने हैं।

अध्यापिका — मन में आई हुई तुम्हारी यह भावना बहुत कल्याणकारी है परंतु सभी इसी प्रकार से नहीं समझते हैं। ठीक है, इनके बारे में कुछ विशेष भी कहना है। सावधान मन से सुनिए। ये प्रदेश अत्याधिक जनजाति वाले हैं। गारो, खासी, नगा, मिजो इत्यादि अनेक जनजातियां यहां रहती है। शरीर से ऊर्जावान इन प्रदेशों के लोग बहुत सारी भाषाओं से युक्त है। त्योहारों और परंपराओं से भी परिपूर्ण है। ये लोग अपने कार्य और कलाओं में निपुण है।

मालती — हे महोदया! वहां तो बांस के पेड़ में पाए जाते हैं?

Translation in English —

Teacher – Hearing this beautiful word was first used by someone on the occasion of the inauguration of Tripura state in the seventy-two (1972) AD of the last century. At the same time these states were re-organised.

Swara – Do they have any other specialty?

Teacher – Definitely it is. All this state is rich in mountains, trees and flowers etc. and with natural wealth, they are adorned like a bunch of flowers on the tree of India.

Rajeev – Madam! Just as there is the most beautiful sister in the house, similarly these seven sisters are the most beautiful in the house of India.

Teacher: This feeling of yours which has come in the mind is very beneficial but not everyone understands it in the same way. Well, there is something special to say about them too. Listen carefully. These regions are highly tribal. Many tribes like Garo, Khasi, Naga, Mizo etc. live here. Energetic by body, the people of these regions are full of many languages. It is also full of festivals and traditions. These people are skilled in their work and arts.

Malti – Oh madam! There are bamboo trees found there?


अध्यापिका — आम्। प्रदेशेऽस्मिन् हस्तशिल्पानां बाहुल्यं वर्तते। आवस्त्राभूषणेभ्यः गृहनिर्माणपर्यन्तं प्रायः वंशवृक्षनिर्मितानां वस्तूनाम् उपयोगः क्रियते। यतो हि अत्र वंशवृक्षाणां प्राचुर्यं विद्यते। साम्प्रतं वंशोद्योगोऽयं अन्ताराष्ट्रियख्यातिम् अवाप्तोऽस्ति।

अभिनव: – भगिनीप्रदेशोऽयं बह्वाकर्षक: इति प्रतीयते।

सलीम: — किं भ्रमणाय भगिनीप्रदेशोऽयं समीचीन: ?

सर्वे छात्रा: — (उच्चै:) महोदये! आगामिनि अवकाशे वयं तत्रैव गन्तुमिच्छामः।

स्वरा — भवत्यपि अस्माभिः सार्द्धं चलतु।

अध्यापिका — रोचते मेऽयं विचारः। एतानि राज्यानि तु भ्रमणार्थं स्वर्गसदृशानि इति।

शब्दार्थ :-  आम् – हां। प्रदेशेऽस्मिन् – इन प्रदेशों में। हस्तशिल्पानां – हस्तशिल्प। बाहुल्यं – अधिकता। वर्तते – है।। आवस्त्राभूषणेभ्यः – वस्त्र और गहनों से लेकर। गृहनिर्माणपर्यन्तं – घर बनाने तक। प्रायः – आमतौर पर। वंशवृक्षनिर्मितानां – बांस के पेड़ से बनी हुई। वस्तूनाम् – वस्तुएं। उपयोगः – उपयोग। क्रियते – की जाती हैं। यतो हि – क्योंकि। अत्र – यहां। वंशवृक्षाणां – बांस के पेड़ों की। प्राचुर्यं – अधिकता। विद्यते – है। साम्प्रतं – इस समय। वंशोद्योगोऽयं – बांस का यह उद्योग। अन्ताराष्ट्रियख्यातिम् – अंतर्राष्ट्रीय प्रसिद्धि को। अवाप्तोऽस्ति – प्राप्त है। अभिनव: – अभिनव। भगिनीप्रदेशोऽयं – यह बहनों वाला प्रदेश। बह्वाकर्षक: – अत्याधिक आकर्षक। इति – है। प्रतीयते – प्रतीत होता है। सलीम: – सलीम। किं – क्या। भ्रमणाय – घूमने के लिए। भगिनीप्रदेशोऽयं – यह बहनों वाला प्रदेश। समीचीन: – ठीक है। सर्वे – सभी। छात्रा: – छात्र।  उच्चै: – जोर से। महोदये – महोदया। आगामिनि – आने वाली। अवकाशे – छुट्टियों में। वयं – हम सब। तत्रैव – वहां पर। गन्तुमिच्छामः – जाना चाहते हैं। भवत्यपि – आप भी। अस्माभिः – हमारे। सार्द्धं – साथ। चलतु – चलिए। रोचते – अच्छा है। मेऽयं – मुझे यह। विचारः – विचार। एतानि – ये। राज्यानि – राज्य। तु – तो। भ्रमणार्थं – घूमने के लिए। स्वर्गसदृशानि – स्वर्ग के समान। इति – है।

Translation in Hindi :-

अध्यापिका — हां। इन प्रदेशों में हस्तशिल्प की अधिकता है। वस्त्र और गहनों से लेकर घर बनाने तक आमतौर पर बांस के पेड़ से बनी हुई वस्तुएं उपयोग की जाती हैं। इस समय बांस का यह उद्योग अंतर्राष्ट्रीय प्रसिद्धि को प्राप्त है।

अभिनव — यह बहनों वाला प्रदेश अत्याधिक आकर्षक प्रतीक होता है।

सलीम — क्या घूमने के लिए यह बहनो वाला प्रदेश ठीक है?

सभी छात्र – ( जोर से ) महोदया! आने वाली छुट्टियों में हम सभी वहां पर जाना चाहते हैं।

स्वरा — आप भी हमारे साथ चलिए।

अध्यापिका — मुझे यह विचार अच्छा लगा। ये राज्य तो घूमने के लिए स्वर्ग के समान हैं।

Translation in English —

Teacher – Yes. Handicrafts are abundant in these regions. From clothing and jewelry to building houses, items made from the bamboo tree are commonly used. Presently this bamboo industry enjoys international fame.

Abhinav – This sister region is a very attractive symbol.

Salim – Is this sister country good to visit?

All students – (loudly) Madam! We all want to go there in the coming holidays.

Swara: You too come with us.

Teacher: I like the idea. These kingdoms are like heaven to visit.

5 thoughts on “सप्तभगिन्य: Class 8 संस्कृत Chapter 9 Translation in Hindi ( व्याख्या ) – रुचिरा NCERT Solution”

  1. MY NAME IS VIHAAN I AM HERE TO TELL YOU THAT THANKS FOR THE ENGLISH TRANSLATION ALSO BECAUSE I DID NOT KNOW SOME WORDS IN HINDI SO I SAW THOSE WORDS FROM ENGLISH TRANSLATION

    Reply
  2. Thanks for hindi translation

    Reply

Leave a Comment

error: cclchapter.com